Admission

: Admission


प्रवेश सम्बन्धी नियम
1. प्रवेश मेरिट आधारित होंगें। प्रवेश आवेदन पत्र जमा कर देना कॉलेज में प्रवेश का आश्वाशन नहीं है।
2. प्रवेश विवरणिका अच्छी प्रकार पढ़ लें। इसमें दिए प्रावधान तथा विनियम विश्वविद्यालय द्वारा यथासमय परिवर्तनीय हैं। 
3. डी0ए0वी0 कॉलेज, देहरादून मूलतः जनपद के निवासियों की शैक्षणिक आवश्यकताओं की पूर्ति हेतु है, अतः प्रवेश में स्थानीय छात्रों को वरीयता दी जाती है।
4. सभी कक्षाओं में प्रवेश हेतु (व्यावसायिक पाठ्यक्रमों को छोड़कर) 90 प्रतिशत सीटें उत्तराखण्ड के अधिवाशियो के लिए होंगी। प्रदेश के बाहर के अभ्यर्थियों के अधिकतम 10 प्रतिशत स्थानों पर ही प्रवेश मिल सकेगा, बशर्ते वे सामान्य वरीयता सूची में अर्ह हों। अर्हता के अभाव में उत्तराखण्ड से बाहर की रिक्त सीटों को उत्तराखण्ड के अभ्यर्थियों की सूची से प्रवेश दिया जाएगा।
5. कृपया अपना प्रवेश आवेदन-पत्र भरते समय जाँच लें कि
1. प्रवेश आवेदन-पत्र व ओ0एम0आर0 शीट विधिवत भरे गये हैं तथा इनमें निर्धारित स्थान पर आपके तथा आपके अभिभावक के हस्ताक्षर हैं।
2. प्रवेश आवेदन-पत्र व ओ0एम0आर0 शीट मंे आपके नवीनतम फोटोग्राफ तथा पता एक ही है। बिना ओ0एम0आर0 शीट भरे, प्रवेश नहीं दिया जाएगा।
3. प्रवेश आवेदन पत्र के साथ निम्नलिखित, संलग्नक भी नत्थी करेंः-
1. रैगिंग सम्बन्धी शपत पत्र, पुलिस सत्यापन पत्र तथा अनुसूचित जाति/जनजाति छात्रों के लिए छात्रवृति आवेदन पत्र।
2. जन्म तिथि के प्रमाण हेतु हाई स्कूल अथवा समकक्ष प्रमाण-पत्र की स्वसत्यापित प्रतिलिपि।
3. अर्हकारी परीक्षा की अंकतालिका की प्रमाणित प्रतिलिपि।
4. स्थानान्तरण प्रमाण पत्र मूल रूप में (महाविद्यालय में पहली बार प्रवेशार्थी के लिए अनिपार्य)।
5. पूर्व संस्था के प्राचार्य अथवा किसी राजपत्रित अधिकारी द्वारा दिया गया चरित्र प्रमाण-पत्र।
6. पुलिस जाँच प्रमाण-पत्र पर छात्र के स्पयं के तथा अभिभावक के  हस्ताक्षर सहित।
7. रैगिंग रोकथाम हेतु शपथ पत्र स्वयं तथा अभिभावक के हस्ताक्षर सहित।
8. अनुसूचित जाति, जनजाति व अन्य पिछड़े वर्ग के लिए छात्र/छात्राओं द्वारा छात्रवृति आवेदन पत्र ऑनलइन प्रस्तुत किया जाएगा।
4. किसी अन्य विश्वविद्यालय से अर्हकारी परीक्षा उत्तीर्ण होने पर उस विश्वविद्यालय का प्रवजन प्रमाण पत्र मूल रून से छात्र परीक्षा आवेदन-पत्र के साथ लगायें।
6 सही एवं स्पष्ट रूप से भरा हुआ आवेदन-पत्र व्यक्तिगत रूप से निर्धारित तिथि तक प्राप्त हो जाना चाहिए। आवेदन-पत्र के साथ प्रमाण पत्रों की स्वप्रमाणित प्रतिलिपियाँ संलग्न करना आवश्यक है। महाविद्यालय के प्रवेश-फार्म पर छात्र/छात्रा का वही नाम मान्य होगा जो उसके हाई स्कूल या समकक्ष परीक्षा के प्रमाण-पत्र पर अंकित होगा। उपनाम अनुमान्य नही है।
7 प्रवेश शुल्क का भुगतान
प्रवेश शुल्क का भुगतान ऑनलाइन भारतीय स्टेट बैंक अथवा सेंट्रल बैंक ऑफ इण्डिया की किसी भी शाखा से स्वीकार्य होगें।
8 अपूर्ण आवेदन-पत्रों पर विचार नही किया जाएगा। आवेदन-पत्र जमा करने की अन्तिम तिथि के पश्चात् किसी भी प्रकार का कोई प्रपत्र अपवेदन पत्र में संलग्न नही किया जाएगा।
9 ड्रॉप आउट्स व अनुचित साधन के दोषी या दोषीरोपित छत्रों को किसी भी अन्य विषय या कक्षा में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। यदि वे इस तथ्य को छिपा कर प्रवेश ले लेते हैं, तो जानकारी होने पर तुरंत उनका प्रवेश बिना किसी नोटिस के निरस्त कर दिया जाएगा। महाविद्यालय के नियमित छात्र जो परीक्षा में सम्मिलित नहीं हुए पुनः प्रवेश के पात्र नहीं होगें।
10 उन प्रवेशार्थियों को जिनके परीक्षाफल अनुचित साधन के अतिरिक्त किसी अन्य कारण से रोके गये हैं, अपने अपने आवेदन पत्र निर्धारित अंतिम तिथि तक अवश्य जमा करा देने चाहिये।
11 दुराचरणस अथवा अनवरत प्रमाद के दोषी छात्र को अर्थदण्ड सहित निलम्बित, निष्कासित, बहिष्कृत या पियपपिद्यलय परीक्षा से वंचित किया जा सकता है। जिन छात्रों की गतिविधियाँ नियंता मण्डल/प्रशासन की राय में अवांछनीय है, उन्हें प्रवेश देने से रोका जा सकतस है। शासकीय अदेश संख्या अ0शा02421/15.18.87/134/86 दिनांक 8 मई 19887 के अनुसार अवांछनीय तत्वों तथा अध्ययन में रुचि न रखने वाले छात्र/छात्राओं को प्रवेश से वंचित किया जा सकता है। यदि प्रवेश दिया जा चुका है तो इसतथ्य का पतर लगने पर प्रवेश निरस्त किया जा सकता है।
12 अपने प्रवेश आवेदन-पत्र के साथ अंक-तालिका या जाति/अधिमान प्रमाण-पत्रों की मूल प्रति नत्थी न करें। केवज स्वप्रमाणित प्रति ही लगायें। मूल-प्रतियाँ सक्षात्कार/सत्यापन/प्रवेश काउंसलिंग के समय प्रस्तुत करनी होंगी।
13 प्रवेशार्थियों को चेतावनी दी जाती है कि वे अपने आवेदन-पत्रों में कोई असत्य सूचना न दें और न ही कोई तथ्य छिपायें। उनके द्वारा प्रस्तुत अंकतालिका और प्रमाण-पत्रों की प्रतिलिपियां सम्बन्धित विश्वविद्यालय/परीक्षा निकायों को भेजी जा सकती हैं। सत्यापन के पश्चात् यदि कोई पत्रजात असत्य पाया जाता है तो न केवल प्रवेश निरस्त कर दिया जाएगा, अपितु कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।
14 वरीयता सूची में चसन के बाद अभ्यर्थी को महाविद्यालय का प्रवेश आवेदन-पत्र सभी वांछित प्रमाण-पत्रों सहित भरना होगा। प्रवेश समिति काउंसलिंग के समय मूल प्रमाण-पत्रों की जाँच करेगी। सभी प्रमाण-पत्रों के सही पाये जाने पर ही प्रवेश समिति द्वारा प्रवेश की संतुति की जाएगी।
15 उपस्थिति पंजिका में किसी भी छात्र/छात्रा का नाम सम्बन्धित प्राध्यापक द्वारा तभी लिखा जाएगा, जबकि छात्र/छात्रा फसि रसीद एवं प्रमाणित परिचय पत्र उन्हे दिखायेगा।
16 महाविद्यालय किसी अभ्यार्थी को प्रवेश सम्बन्धी सूचना देने को बाध्य नही होगा। प्रवेश के इच्छुक अभ्यार्थीयों का दायित्व है की वे समय-समय पर महाविद्यालय के सम्बन्धित विभाग के सूचना पट्ट पर लगने वाली सूचनायें प्राप्त करें।
17 मिथ्यी/अपूर्ण सूचनायें प्रस्तुत करने पर किसी भी छात्र को महाविद्यालय से निष्कासित किया जा सकता है, अगर त्रुटिवश या मिथ्या सूचना के आधार पर किसी छात्र/छात्रा को प्रवेश प्राप्त हो गया हो तो ऐसे तथ्योें के प्रकाश में आने पर संबंधित अनियमित प्रवेश को निरस्त करने का अधिकार प्राचार्य का होगा।
18 महाविद्यालय को बिना किसी कारण दिये प्रवेश न देने/निरस्त करने कर अधिकार है। प्राचार्य द्वारा कोई भी प्रवेश कभी भी बिना कारण बताये निरस्त किया जा सकता है।
19 प्रवेश के इच्छुक छात्र/छात्रा का प्रवेश के समय, प्रवेश समिति के समक्ष स्वयं उपस्थित होनास अनिवार्य है।
20 जिन छात्रों ने पिछलें वर्ष पुस्कालय की पुस्तकें वापस नहीं की हैं उन्हें प्रवेश तभी दिया जाएगा, जब वे पुस्तकें वापस कर देंगे।
21 ‘ओपन स्कूल’ से पाँच विषय लेकर प्लस-टू परीक्षा उत्तीर्ण छात्र स्नातक कक्षाओं मंे प्रवेश के लिए अर्ह होंगे।
22 विश्वविद्यालय के नियमानुसार महाविद्यालय की प्रत्येक कक्षा में ब्ंेनंस ।कउपेपवद पूर्णतः वर्जित है।
23 एम0एस0सी0 कक्षाओं में किसी अन्य महाविद्यालय/विश्वविद्यलय अथवा किसी कॉलेज की अन्य कक्षों से किसी भी परिस्थिति में स्थानान्तरण की अनुमति नहीं है।
24 प्रवेश लेने के पश्चपत् सभी छात्र/छात्रायें अपने परिचय पत्र चीफ प्रॉक्टर कार्यालय में हस्ताक्षर के लिए स्वयं उपस्थित हों। अपना पहिचान पत्र किसी अन्य को न दें।
25 सभी छात्र/छात्रायें लायब्रेरी कार्ड बनाने के लिये पुस्तकालय मेें निर्धारित काउन्टर पर स्वयं ही उपस्थित होकर अपना लायब्रेरी कार्ड बनवायें।
26 प्रवेश सम्बन्धी सभी सूचनायें तथा आवेदन पत्र जमा करने की अेतिम तिथि, योग्यता सूची, प्रवेश चयन हेतु, शुल्क जमा करने की बंतिम तिथि आदि केवल विभागीय/कॉलेज सूचना पट्ट से प्रसारित की जायेगी। इसलिये सभी प्रवेशार्थियों से अपेक्षा की जाती है की वे कॉलेज/विभागों के सूचना पट्ट निरन्तर देखते रहें।
27 शुल्क रसीद सुरक्षित रखनी चाहिए, क्योंकि संरक्षित-निधि वापस लेते समय इसे तत्संबंधि प्रार्थना पत्र के साथ कार्यालय में जमा काने होता है।
28 शुल्क विमुक्ति के लिये यथा समय निर्धारित प्रपत्र पर आवेदन अवश्य कर दें।
29 छात्र/छात्राओं करे स्नातक डिग्री छः वर्ष तथा स्नातकोत्तर अधिकतम चार वर्ष में पूर्ण करनी होगी।
30 जनपद देहरादून में नौकरी करने वाले अभ्यर्थियों को अपने विभाग से अनापत्ति प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करना अनिवार्य है, लेकिन जनपद देहरादून से बाहर नौकरी करने वाले प्रवेश के पात्र नहीं होंगे।
31 विषय/संकाय एक बार आवंटित होने पर परिवर्तन नहीं किया जाएगा।
32 अनुत्तीर्ण होने वाले छात्रों को उसी कक्षा एवं संकाय में प्रवेश नहीं दियी जएगा।
33 प्रवेश सम्बंधी टनय नियमों में विश्वविद्यालय सम्बन्धी नियम लागू होंगे।
34 विश्वविद्यालय द्वारा अनुमन्य सीटों के अनुरूप ही प्रवेश दिए जयेंगे।
अध्ययन-पाठ्यक्रम
विषय चयन सम्बन्धी सूचना पढ़कर ही विषयों का चयन करें। गलत विषय चयन करने के पश्चात् होने वाली हानि का उŸारदायित्व केवल छत्रा का ही होगा।
error: Content is protected !!